MP E Uparjan 2021 – Kisan Kendra, Code | ई उपार्जन आनलाइन पंजीकरण

MP E Uparjan
Share

MP e Uparjan 2021-22, MP e Uparjan Kisan Online Registration | किसान ऑनलाइन पंजीयन | एमपी ई उपार्जन | MP e Uparjan kisan code, MP uparjan kendra, MP e Uparjan mobile app, Helpline Number

नमस्कार पाठकों

आज के लेख में हम उपार्जन की वेबसाइट के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे। मित्रों यदि आप किसानी करते है और अपना अनाज सरकारी मंडियों में बेचने जाते है, तो वहा आपको अनाज खरीदने के बाद एक रसीद दी जाती है जिसमे वह सारी जानकारी होती है जो अनाज बेचने के बाद आपको मिलनी चाहिए।

लेकिन बिलकुल इसी जगह भ्रष्टाचार के लिए एक बहुत बड़ी जगह है। ऐसा कई बार हुआ है कि एक किसान अपने अनाज बेचने के बाद जो रकम हासिल करता है, अनाज बेचने वाला बहीखातों में उसे ज्यादा बताता है लेकिन आपको पैसे कम देता है।

कई बार ऐसे किस्से भी हुए है जहा अनाज खरीदने के बाद अनाज की सही कीमत किसानों को मांगने पर भी नहीं दी जाती। इस परिस्थिति में जो मंडिया चलाते है वे और उनके साथ वे बिचौलिये जो किसान से उसका अनाज सस्ते दामों में बिकवाते है। वे लोग ज्यादा अमीर होते गए और किसानों के नसीब में कर्ज के बोझ तलें सिर्फ आत्महत्या आई।

भारत सरकार ने इस तंत्र को न केवल समझा बल्कि इसके बारे में राज्य सरकारों को निर्देश भी दिए की एक ऐसा ऑनलाइन portal होना चाहिए जिसमे किसानों को दी जाने वाली रकम का पूरा बायोडाटा होगा और इसके वजह से जो लोग किसानों का हक़ मार रहे थे उन्हें अब भूखा रहना होगा।

इसके वजह से किसानों को उनकी फसल का तयशुदा दाम भी मिलेगा और वाही दाम की जानकारी सरकार तक भी पहुचेगी, वरना पहले सरकारों तक केवल वही रकम की जानकारी पहुँचती थी जो अनाज विक्रेता लिख देता था लेकिन उतनी रकम किसान को देता नहीं था। जिसके वजह से हजारों करोड़ों की धांधली होती थी और किसान गरीब ही रह जाते थे।

जब से कई राज्य सरकारों ने उपार्जन को अपनाया तब से नाज विक्रेता को और बिचौलियों को भी धांधली का डर लगने लगा। और इसके बाद बहुत से किसानों को उनकी फसल का सही दाम मिलने लगा। यह धांधली पूरी तरीके से बंद नहीं हुई लेकिन एक हद तक कम जरूर हो गयी।

MP e Uparjan क्या है

MP e उपार्जन एक ऑनलाइन वेबसाइट portal है और दूसरे शब्दों में कहे तो MP e Uparjan एक ऐसी वेबसाइट है जिसकी सहायता से एक ऐसे बड़े विशाल डेटाबेस को एक्सेस किया जा सकता है जिसमे पूरे राज्य के किसानों के बारे में यह जानकारी होती है कि किस किसान ने किस सरकारी मंडी में अपनी फसल को बेचीं और उसके बदले में उसे कितनी राशी मिली, तथा किसान के बारे में उसके बेक अकाउंट और IFSC कोड के साथ बहुत सारी जानकारी भी होती है जिसे सरकार अपने पास रखती है।

MP e Uparjan 2021-22 आज के समय वह सारे कार्य कर रहा है जिसके लिए इसे बनाया गया था और जिसके लिए यह सोच कार्यरत थी। और इसी के साथ किसानों की काफी सारी दिक्कतों को इसने आसान भी कर दिया है।

अगर इसे और भी आसां भाषा में समझे तो e-उपार्जन नाम की वेबसाइट के मदद से पूरे मध्यप्रदेश राज्य को इस तरह से कवर किया गया जिसमे राज्य के हर किसान के धान, फसलों, गेहू पर निगरानी राखी गयी। और सारे किसानों की किसानी का ध्यान रखा गया की उन्हें उनकी मेहनत का पैसा मिला या नहीं, किसी किसान की शिकायत तो नहीं आयी, किसी किसान के साथ धोखाधड़ी तो नहीं हुई। इत्यादि जानकारियां केवल MP e-उपार्जन के जरिये प्राप्त हुई।

MP e Uparjan- एक संक्षिप्त दृष्टि

योजना का नाम MP e Uparjan ( ई-उपार्जन)
लाभार्थी मध्य प्रदेश के किसान
पोर्टल का नाम ई-उपार्जन
उद्देश्य समर्थन मूल्य पर फसल बेचने के लिए (एप्लाई) आवेदन करना
साल 2021
आधिकारिक वेबसाइट क्लिक करे
डिजाइन, विकसित और होस्ट किया गया राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र, मध्य प्रदेश, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय।

MP e Uparjan- एमपी e-उपार्जन का उद्देश्य क्या है

मित्रों, e-उपार्जन का उद्देश्य थोडा राजनीतिक ढंग से समझा जा सकता है। मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह की सरकार है वह बीजेपी की सरकार है और बीजेपी की ही केंद्र में भी सरकार है। और केंद्र सरकार की एक घोषणा कि “किसानों की आय 2022 तक दूगुनी कर दी जाएगी” को सत्य रूप देने के लिए ऊपर केंद्र सरकार से और नीचे जमीन पर BJP शासित राज्यों में भरपूर काम हो रहा है

MP e-Uparjan भी इसी घोषणा को सत्य रूप देने के लिए और किसानों की आय बढाने के लिए किया गया एक प्रयास है। हम यह मान सकते है कि मध्यप्रदेश में अभी राज्य सरकार अपने वादों को पूरा करने में लगी हुई है। इसी के वजह से राज्य सरकार ने किसानों को उपहार स्वरूप एक ऐसा portal दिया जिसमे मध्य प्रदेश के किसान अपने अनाज को सरकारी मंडियों तक या एजेंसियों तक आसानी से बेच पायेंगे और उन्ह वही मूल्य भी मिलेगा जो सरकार ने निर्धारित करे हुए है।

MP e Uparjan के वजह से बीच में बिचौलियों का किरदार हट जाता है जिससे भ्रष्टाचार की संभावनाएं भी काफी कम हो जाती है।

Read this Also: Ration Card- राशन कार्ड के लिए आवेदन कैसे करे | Check New Ration Card

MP e Uparjan- यह वेबसाइट किसने बनायीं

MP e Uparjan वेबसाइट नेशनल इन्फाॅर्मेटिक्स सेंटर के जरिये बनायीं गयी और इस उद्देश्य को साधने के लिए बनायी गयी कि मध्यप्रदेश में होने वाले सबसे बड़े अनाज घोटाले से सरकार तथा जनता  को राहत मिले।

सरकार के इस कदम से यह चिंताए पूरी तरीके से हटी तो नहीं लेकिन एक हद तक कम हो गयी जिसके बाद सरकार के पास एक अच्छा option सोचने के लिए बहुत समय आ गया है।

MP में e-उपार्जन शब्द का भी यही मतलब हुआ कि फसल उगाने से लेकर उसे खेत मे तैयार करके मंडी तक लाने का पूरा चक्र उपार्जन कहलाता है और इसी परिभाषा के तहत उपार्जन वेबसाइट के जरिये किसान चाहे तो मात्र कुछ क्लिक में अपनी वह सारी जानकारी देख सकते है जिन्हें देखना उनके लिए जरूरी है।

MP E Uparjan- इससे क्या क्या कार्य किये जा सकते है

• MP e-उपार्जन एक ऐसी वेबसाइट है जिससे एक बहुत ही वृहद् आकार का डेटाबेस एक्सेस किया जा सकता है जिसमे पूरे राज्य के किसानों के बारे में उनकी खरीद बेच की जानकारियां होती है।

• MP e Uparjan के सहायता से एक किसान अपने आप को अर्थात अपनी फसल को ऑनलाइन वेबसाइट के द्वारा पंजीकृत करवा सकता है और पंजीकरण के लिए उसे कही जाने की आवश्यकता नहीं होती। सिर्फ एक मोबाइल फ़ोन और एक इन्टरनेट का कनेक्शन इसके लिए काफी है।

• आप अपना ऑनलाइन टिकेट भी e-उपार्जन की सहायता से ले सकते है और इसके लिए आपको लाइन में लगने की या और किसी तरीके से इतंजार करने की जरूरत नहीं होती है।

• MP e-उपार्जन के सहायता से आप अपने टिकट की स्थिति ऑनलाइन देख सकते है।

• किसान e-उपार्जन की सहायता से मूंग, उड़द, खरीफ, कपास, धान, रबी, चना, सरसों, मसूर, रबी, गेहू, जौ, बाजार, मोटा अनाज, प्याज को भी बेचने के लिए अपना पंजीकरण करवा सकते है।

MP Uparjan Kendra- किसान के पंजीयन की जानकारी e-उपार्जन से कैसे ले?

• यदि आप एक किसान है या किसान को जानते है जिन्होंने अपना पंजीकरण अनाज मंडी में करवाया था और वहा अपना अनाज बेचा था तो इसके बारे में आप जानकारी लेना चाहते है तो आपको e-उपार्जन की वेबसाइट पर आसानी से जानकारी मिल जाएगी बस आपको नीचे कुछ दिए हुए स्टेप्स को ध्यान से पूरा करना है।

• सबसे पहले तो आपको MP e Uparjan की ऑफसियल वेबसाइट पर जाना है।

• वेबसाइट open होने के बाद आपको जो वेबसाइट का लोगो है उसके ठीक नीचे “किसान पंजीयन/ आवेदन सर्च” लिखा हुआ मिल जायेगा, वह एक लिंक है जिसके ऊपर आपको क्लिक करना है।

MP Uparjan Kendra
MP Uparjan Kendra

• इसके बाद आप एक नए पेज पर आ जायेंगे जिसमे बहुत से प्रकार के बॉक्स होंगे जिसमे आपको जानकारियाँ भरनी होंगी।

• अब आपको अपना जिला चुनना है उसके बाद आपको अपना मोबाइल नंबर सामने बॉक्स में डालना है और उसके भी नीचे चित्र मे दिए गए टेक्स्ट और नंबर को बाॅक्स मे टाइप करना है।

• उसके बाद “किसान सर्च करे” पर क्लिक करियेगा और आपके सामने उस सम्बंधित किसान की पूरी जानकारी होगी।

MP Uparjan Kendra- Click on the किसान सर्च करे Button

• उस किसान की पूरी जानकारी में आपको किसान का नाम, किसान के पति या पिता का नाम, समग्र ID, मोबाइल नंबर, तहसील, ग्राम, जिला, पंजीयन केंद्र, बैंक नंबर, IFSC कोड, आवेदन पंजीयन कोड, अकाउंट नंबर, बैंक ब्रांच, पंजीयन के प्रकार, उसी के साथ उपार्जन केंद्र भी आपको दिखाई देगा।

• इस तरीके से आप किसान के पंजीयन की जानकारी प्राप्त कर सकते है।

MP e Uparjan Kisan Online Registration- रजिस्ट्रेशन कैसे करें

पहले किसानों को कृषि उपज मंडी में रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता था लेकिन यह प्रक्रिया मेनुअल होने के कारण इसमें समय भी ज्यादा लगता था और ज्यादा लोग रजिस्ट्रेशन भी नहीं करवा सकते थे इसके कारण वही होता था जिसका डर था। इसके कारण किसानों को अपनी मेहनत से उगाया हुआ अनाज मंडी में कम दामों पर बेचकर आना पड़ता था।

मध्यप्रदेश सरकार ने इन सभी दुविधाओं को समझा और उन्होंने e-Uparjan नाम का ऑनलाइन portal बनवाया जिसकी सहायता से कोई भी किसान जो मध्यप्रदेश में रहता है वह e-उपार्जन पर रजिस्ट्रेशन करवा सकता है।

रजिस्ट्रेशन के लिए प्रोसेस

•    आपको सबसे पहले MP e Uparjan की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

•    इसके बाद आपको रबी 2021-22 पर क्लिक करना है।

Kisan Online Registration
MP e Uparjan- Kisan Online Registration

•    इसके बाद आप एक नए पेज पर आजायेंगे।

•    इसके बाद आपको STATE USER के बॉक्स के ऊपर लिखे किसान पंजीयन/आवेदन सर्च पर क्लिक करना होगा।

•  अब इसके बाद आपको मांगी गयी जानकारी बॉक्स में भरकर सबमिट करना है।

•   इसके बाद आपको सर्च बटन पर क्लिक करना है जिसके तुरंत बाद आपको अपने बैंक की डिटेल और अपनी और भी जानकारियां सामने स्थित बॉक्स में भरनी होगी।

•    इसके बाद आपको सबमिट करना होगा।

•    जब आपका आवेदन पूर्ण रूप से सफल हो जायेगा तो कुछ मिनट्स में ही आपको आपकी आवेदन संख्या और पावती संख्या मिल जाएगी।

•    इसके बाद आपका रजिस्ट्रेशन पूरा हो जायेगा।

Required Document (जरूरी दस्तावेज)

रजिस्ट्रेशन के प्रोसेस को जानने से पहले इसमें जो डॉक्यूमेंट चाहिए होंगे उनके बारे में जान लेते है-

•    इसके लिए आवेदनकर्ता की कंपोजिट/समग्र ID चाहिए होगी।

•    व्यक्ति को अपना निवास प्रमाण पत्र भी अपने पास रखना होगा।

•   आधार कार्ड भी जरूरी होगा।

•   आपकी बैंक की पासबुक भी जरूरी होगी।

•   आपका मोबाइल नंबर जो आपके बैंक के खाते से जुड़ा हुआ है, चाहिए होगा।

•   आपको अपनी लोन बुक भी अपने साथ रखनी होगी।

•   इसके लिए आपको 2 पासपोर्ट साइज़ की photo की भी जरूरत होगी।

MP e Uparjan Portal Login- पोर्टल पर लॉग इन कैसे करे

•   e-उपार्जन में राज्य सरकार ने किसानों के बारे में बहुत सी जानकारियां डाल रखी है जिसके वजह से हर किसान की जानकारी को सुरक्षित रखना राज्य सरकार का दायित्व है।

•   इसी लिए MP E Uparjan में लॉग इन करना भी बहुत सुरक्षित है

•   लॉग इन करने के लिए सबसे पहले तो आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा

•  अधिकारिक वेबसाइट खुल जाने के बाद आपको गेहूं के बॉक्स जो पहली रबी की लिंक है जो की वर्त्तमान समय में रबी 2021-22 है पर क्लिक करना है

•   उसके बाद एक नया पेज खुल जाएगा जहां आपको तीन बॉक्स दिखेंगे जिनमे क्रमशः STATE USER, DISTRICT USER, OTHER USER नाम लिखे होंगे।

•   उसके बाद आपको OTHER USER के बॉक्स में जाकर के मध्य में ही एक option होगा जिसका नाम “पंजीयन केंद्र” होगा जिस पर आपको क्लिक करना है।

MP E Uparjan Kendra- Click on the पंजीयन केन्द्र link

•    क्लिक करते ही आपके सामने लॉग इन पेज open जो जायेगा जोकि किसानों के लॉग इन करने के लिए है।

•   अब लॉग इन करने से पहले आपको OTP generate करना है जो की आपके मोबाइल नंबर डालकर होगी।

MP E Uparjan- Login to Portal

•    OTP डालने के बाद ही आपको अपनी दूसरी जानकारियां डालकर लॉग इन करना है और लॉग इन करने के बाद आप अपने प्रोफाइल पर पहुच जायेंगे जहा आप अपने बारे में वह सारी जानकारी ले पायेंगे जिसके लिए आपने लॉग इन किया है।

MP E-Uparjan Mobile App

इस वृहद् आकार के डेटाबेस को ऐक्सेस करने के लिए जो वेबसाइट थी बिलकुल उसी की तरह का एंड्राइड मोबाइल एप्प भी आज के समय प्ले स्टोर पर उपलब्ध है जिसे आप MP E Uparjan के नाम से ढूंढ सकते है और जो कार्य आप लैपटॉप या डेस्कटॉप से कर रहे थे वह काम आप अपने फोन से भी कर पाएंगे।

MP ई उपार्जन टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर

एमपी ई उपार्जन टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 181 ये है इस पर dial कर के आप अपनी जानकारी विस्तृत रूप से प्राप्त कर सकते हैं।

Conclusion

तो आज के लेख में हमने जाना की e-उपार्जन के क्या क्या फायदे है और यह कैसे किसानों के लिये अच्छा ऑनलाइन प्लेटफार्म है और कैसे देश का एक साधारण सा किसान पूरी दुनिया से अपने व्यवसाय को बढ़ा सकता है। इन्ही तत्वों के आधार पर केंद्र सरकार ने 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने को कहा है। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे अपने मित्रो व सगे संबंधियों के साथ अवश्य साझा करें।


Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top